Press "Enter" to skip to content

Sabhindime

Featured

Today’s women struggle not for equality but for respect

मैं हूँ नारी आज की, न हूँ मैं अबला, ना लाचार हूँ, पैरों पर अपनी खड़ी हूँ, कमजोर भी मैं नहीं हूँ, नहीं चाहिए मुझे…