आलू (potatoes) सबसे अधिक भारत में पैदा किया जाता है, और देश के सभी भागों में लोग इसको शाक-सब्जी के रूप में खाते हैं। आलू (potatoes) एक सबसे अधिक लोकप्रिय और सुपरिचित खाद्य-पदार्थ है जिसका उपयोग सब्जी और चिप्स बनाने में किया जाता है।

आज मैं आपको आलू के औषधीय गुणों और इसके उपयोग के बारे में बताउंगी:-

potatoes
images: Getty Images

आलू एक कन्द है जो जमीन के अंदर पैदा होता है, ये सब्जी के रूप में सबसे ज्यादा उपयोग होता है। रसोई में आलू का उपयोग कई तरह के व्यंजन बनाने में भी होता है, और इसके चिप्स भी बनाये जाते हैं। 

Potatoes Properties-

आलू शीतल, मधुर, भारी, मल और मूत्र कारक, कफ, मल बांधने वाला, बलकारक, वातकारक, रक्तपित्त नाशक होता है। 

Potatoes –

सारे भारतवर्ष में आलू की पैदावार होती है, सब भागों के लोग इससे अच्छी तरह परिचित हैं। इसलिए इसके बारे में ज्यादा बताने की कोई जरूरत नहीं है। मैं आपको आलू के गुणों के बारे में बताती हूँ।

भारतीय कृषि अनुसंधान परिषद ने सभी देशवासियों से ये अपील की थी कि वे अधिक से अधिक आलू का सेवन करें, क्योंकि मानव शरीर के लिए अत्यधिक उपयोगी पोष्टिक तत्व आलू में पाए जाते हैं, 

आलू में carbohydrate(कार्बोहाइड्रट) vitamin (विटामिन) A और C, protein (प्रोटीन), calcium(कैल्शियम), magnesium(मेगनीशियम), potassium(पोटेशियम), लोहा, महत्वपूर्ण खनिज, riboflavin, एस्कार्बिक एसिड, एमिनो एसिड(amino acid), niacin, आदि तत्व पर्याप्त मात्रा में पाए जाते हैं। 

माना जाता है कि आलू से शरीर भारी और मोटा होता है, लेकिन वैज्ञानिकों का कहना है कि  ये धारणा गलत है। आलू में starch और sugar की मात्रा कम और पानी की मात्रा ज्यादा होती है, इसलिए इसकी calorie value इतनी नहीं होती कि इससे मोटापा आये। केवल एक सूरत में मोटापा बढ़ सकता है,

अगर आप इसे तेल में तल कर खाएं। आलू को हमेशा उबाल कर छिलके सहित खाना चाहिए। ये वास्तव में एक पौष्टिक और सन्तुलित आहार है। अतः इसका उपयोग अपने भोजन में अवश्य करें। 

Potatoes Benefits-

1.आलू को छिलके के साथ ही उबाल कर सब्जी के रूप में या भून कर भरते के रूप में बना कर खाना चाहिए। एक बात का ध्यान और रखें कि  जिस पानी में आलू को उबालते हैं उस पानी को फेंके बिलकुल नहीं बल्कि उस पानी को सब्जी में ही काम में लें। इस पानी में भरपूर मात्रा में पौषक तत्व पाए जाते हैं। 

2.जो लोग दुबले-पतले हैं उन्हें छिलके सहित आलू का सेवन रोजाना करना चाहिए, इससे उनका शरीर सुडौल होने के साथ-साथ सेहतमंद भी रहेगा,

उनका चेहरा भी भर जायेगा। इसके उबले पानी में आलू के छिलके और आलू के गूदे से लेप तैयार कर अपने चेहरे पर लगाने से आश्चर्यजनक रूप से फर्क मिलेगा।

आपके चेहरे की झाइयां दूर होंगी, इसे आप अपने चेहरे पर मास्क के रूप में लगाएं, आपको बहुत अधिक फर्क महसूस होगा। आपके चेहरे की कोमलता बनी रहेगी और त्वचा कांतिमय होकर चमकदार बनेगी। 

3.जले हुए स्थान पर कच्चा आलू पीस कर लेप लगाने से जलन खत्म होकर ठंडक मिलती है। नियमित रूप से छिलके सहित आलू खाने से पथरी का रोग भी नहीं होता,

अगर इसको गर्म राख में भून कर खायें और कच्चे आलू के रस को पीने से पेट और गले की जलन, साथ ही acidity में भी लाभ मिलता है। 

potato
image source: getty images

4.आलू खाते समय ये सावधानी जरूर रखें कि एक साथ ज्यादा मात्रा में इसका सेवन न किया जाये, बल्कि प्रतिदिन थोड़ी मात्रा में इसे खाया जाये तो ये उपयोगी साबित होता है।

लेकिन अगर आप इसे ज्यादा मात्रा में खाएंगे तो आपको अपच और अफारा होने की मुश्किल का सामना करना पड़ सकता है।

5. आलू के रस में शहद मिलाकर अगर बच्चों को दिया जाये तो उनका विकास तेजी से होता है  

दोस्तों,  आलू खाते समय एक बात का ध्यान रखें कि आलू का हरा भाग बिलकुल न खाये, हरे भाग में उपस्थित सोलेनाइन नामक एक जहरीला पदार्थ है जो हमारे स्वास्थ्य के लिए बहुत हानिकारक होता है। साथ ही आलू का अंकुरित भाग भी न खाया जाये। 

Published by sabhindime

kalaa shree Founder of http://www.sabhindime.com

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

%d bloggers like this: